Friday, June 13, 2008

औडेसिटी से गीत हुआ आपका, हमेशा के लिए.

कई बार किसी वेब साईट पर या किसी ब्लॉग पर आपका कोई पसंदीदा गीत मिल जाता है, या कभी कोई गीत आप सुनते हैं और पसंद आता है। ऐसे में ये अखरता है कि गीत को आप उस वेबपेज या ब्लॉग पर तो सुन पाते हैं पर डाउनलोड लिंक उपलब्ध ना होने से अपने कंप्यूटर पर सेव नहीं कर पाते। तो फिर ऐसे में आप क्या करते हैं?

एक उपाय है ऑडियो केप्चर का। इसके लिए एक छोटे से सॉफ्टवेयर की जरूरत होती है। आज बात करते हैं एक अत्यन्त लोकप्रिय मुफ्त ऑडियो केप्चर सॉफ्टवेयर की जिसका नाम है "औडेसिटी"। इसका प्रयोग करके आप अपने कंप्यूटर के स्पीकर से सुनाई देने वाली किसी भी ध्वनि को बड़ी आसानी से उच्च गुणवत्ता की रेकॉर्डिंग में परिवर्तित कर सकते हैं।

आइये देखते हैं कि कैसे:

. औडेसिटी को यहाँ से डाउनलोड कीजिये: (केवल २.१ एमबी साइज)
http://www.download.com/Audacity/3000-2170_4-10058117.html?tag=lst-1&cdlPid=10606824
या
http://www.download.com/3001-2170_4-10606824.html?spi=db63cc77027abbf5c5fb512482902ad7

. औडेसिटी द्वारा रिकार्डेड ध्वनि wav फॉर्मेट में होती है। अगर आप इसे MP3 (यानी कम्प्रेस्ड फॉर्मेट, छोटी फाइल साइज) में बदलना चाहते हैं तो एक को-डेक की आवश्यकता होगी। lame mp3 एनकोडर मुफ्त में ये सेवा प्रदान करता है। इसे यहाँ से डाउन लोड कर लें: (फाइल साइज केवल ५७४ केबी)
http://www.free-codecs.com/Lame_Encoder_download.htm

अगर कोई दिक्कत आए तो यहाँ से डाऊनलोड करें:
http://www.mediafire.com/?4f01t32b10a

ये को-डेक फाइल जिप फॉर्मेट में है। इसे अनजिप करके एक फोल्डर में रख लें। इस फोल्डर को कहीं भी रख सकते हैं। चाहें तो औडेसिटी के प्रोग्राम फोल्डर में भी।

. प्रोग्राम लोड करने के बाद उसे चलाने पर स्क्रीन पर एक ड्राप डाउन लिस्ट दिखेगी। चित्रानुसार wave को चुन लें।

. edit >> preferences में जाइए।

Audio I/O में channels में 2 (stereo) चुनिए।

. अब उस सोर्स को तैयार रखिये जिसका साउंड आप रिकॉर्ड करना चाहते हैं। उदाहरण के तौर पर यहाँ हमने ई-स्निप्स की प्लेलिस्ट से एक गीत चुना हुआ है। इसके बजाये कोई गाता बजाता ब्लॉग पृष्ठ भी हो सकता है। ( और अगर सॉफ्टवेयर की प्रेक्टिस कर रहे हैं तो अपने मीडिया प्लेयर पर कोई गीत बजाकर औडेसिटी में रिकॉर्ड करके भी देख सकते हैं।)

. पहले औडेसिटी में रिकॉर्ड बटन पर क्लिक कीजिये। तुरंत बाद साउंड सोर्स को भी चालू कीजिये।

रिकार्डिंग प्रारम्भ होने पर लहराती हुई तरंगे बनती हुई दिखेंगी। ऊपर दायें कोने में दो लाल पट्टियाँ बाएँ और दायें चैनल की रिकार्डिंग की नाचते हुए जानकारी देंगी।

. गीत समाप्त होने पर stop बटन पर क्लिक करें।

. अब बारी है रिकार्डेड गीत के उस हिस्से को सिलेक्ट करने की जिसे आप सेव करना चाहते हैं। चित्रानुसार तरंगों के प्रारंभिक भाग से क्लिक करके ड्रेग करते हुए आख़िर तक ले जाइए। गहरे रंग में बदलने वाला हिस्सा सेलेक्टेड है।

. file >> export as MP3 को चुनिए।

पहली बार में आपसे lame एनकोडर का पता ठिकाना पूछा जाएगा। yes पर क्लिक करके lame के फोल्डर में lame_enc.dll फाइल तक पहुँचिये। ये परेशानी केवल एक बार की ही है।

१०. अगली स्क्रीन पर ID3 टेग्स को एडिट करने के लिए कहा जायेगा। ok पर क्लिक कीजिये और आगे बढिये।

फाइल सेव होने लगेगी। बस एक या दो मिनिट में आपका मनपसंद गीत हमेशा के लिए आपके कंप्यूटर पर सेव हो जायेगा और वो भी काफ़ी अच्छी क्वालिटी में।

----------------------------------------------------------
अगर आप चाहें तो इस ट्यूटोरियल में प्रयुक्त सभी इमेजेस को इस लिंक पर (http://www.mediafire.com/?yfyfe2wkz9u) क्लिक करके प्राप्त कर सकते हैं. (कुल फाइल साइज लगभग ६२२ केबी):
-----------------------------------------------------------
और अब हमारा एक पसंदीदा गीत, पहले ई-स्निप्स से



और ये रहा उसका औडेसिटी द्वारा रिकॉर्ड किया गया रूप आपके डाउनलोड के लिए.
http://www.mediafire.com/?cruuxkfzxcm

Lyrics:

If you miss the train I'm on
You will know that I am gone
You can hear the whistle blow a hundred miles

A hundred miles, a hundred miles
A hundred miles, a hundred miles
You can hear the whistle blow a hundred miles

Yes, I'm one, Yes, I'm two
Yes, I'm three, Yes, I'm four
Yes, I'm 500 miles from my home

Away from home, away from home
Away from home, away from home
Yes, I'm 500 miles away from home

Not a shirt on my back
Not a penny to my name
Lord, I can't go back home this a-way

This a-way, this a-way
This a-way, this a-way
Lord, I can't go back home this a-way

So If you miss the train I'm on
You will know that I am gone
You can hear the whistle blow a hundred miles...

कुछ सुना सुना लगता है ना? याद कीजिये, राजेश रोशन, इन्दीवर, कुमार शानू, साधना सरगम, जुर्म, महेश भट्ट. नक्काल बॉलीवुड।

और अगर कोई बात बिगड़ जाए या फिर कोई मुश्किल पड़ जाए तो, जी मेल है ना। :-)

17 comments:

Gyandutt Pandey said...

वाह! ऑडेसिटी डाउनलोड हो गया। आपका लेख बुकमार्क हो गया। अब कुछ डाउनलोड कर उसकी गुणवता जान कर आपको बतायेंगे!
जुगाड़ हेतु धन्यवाद।

Udan Tashtari said...

इसे और साऊन्ड रिकार्डर एक्स पी को बहुत समय से इस्तेमाल करता हूँ. आपका आभार जो इतने विस्तार से इसके बारे में बताया.

yunus said...

ऑडेसिटी का इस्‍तेमाल अन्‍य चीजों की एडीटिंग में तो करते रहे हैं । पर कभी उससे रिकॉर्डिंग नहीं हो पाई । आज जब आपकी पोस्‍ट को पढ़कर पुन: चेक किया तो पाया कि ड्रॉप डाउन वाली सूची में वेव नहीं है बल्कि स्‍टीरियो मिक्‍स सेलेक्‍टेड है । क्‍या ये वर्जन पुराना है । वरना रिकॉर्डिंग ना होने का क्‍या कारण है ।

yunus said...

वैसे मेरे पास दो सॉफ्टवेयर है इस तरह की रिकॉर्डिंग के लिए । एक है फ्री कॉर्डर और दूसरा रिप्‍ले म्‍यूजिक

Ghost Buster said...

@ ज्ञान जी: धन्यवाद. परिणाम बताइयेगा.
@ समीर जी: आभार. शायद ये जानकारी कुछ लोगों के काम आ जायेगी. यही सोचकर पोस्ट बना डाली.
@ यूनुस जी: सॉफ्टवेयर पुराना होने वाली प्रॉब्लम नहीं लगती. आपके साउंडकार्ड का ड्राइवर कौन सा है? उसे अपडेट करके देख लें. हमारे pc में c-media का cmi 8738 डला हुआ है. हम भी अभी तक गोल्डवेव का इस्तेमाल करते आ रहे हैं. लेकिन वो शेयरवेयर था और अब नया वर्जन ट्रायल वेयर हो गया है. इसलिए ये मुफ्तिया आजमा कर देखा और एकदम बढ़िया काम किया.

Pratyaksha said...

औडासिटी तो पहले से था , अब ये जुगाड़ आजमाते हैं ।
और ये फाईव हन्द्रेड माईल्स पर बचपन याद दिला दिया ..तब हम खूब लहक लहक कर स्कूल में इसे गाते थे ...

Shiv Kumar Mishra said...

भइया बड़ा टेक्निकल टाइप है सबकुछ...मेरी समझ में नहीं आया. वैसे देखा जाय तो औडेसिटी से गीत तो क्या लोग पता नहीं क्या-क्या कर ले रहे हैं. आख़िर औडेसिटी नहीं रहती तो अन्नू मालिक साहब धुन कैसे चुराते?....:-)

कुश एक खूबसूरत ख्याल said...

बढ़िया जानकारी रही.. धन्यवाद

PD said...

मैं तो रिकार्ड करने के लिये हमेशा जेट ऑडियो का प्रयोग करता रहा हूं और MP3 में बदलने के लिये ज्यूक बॉक्स का.. वैसे आपका जुगाड़ भी मस्त है.. :)

Lavanyam - Antarman said...

" thanx "

vimal verma said...

समझाया तो आपने बहुत अच्छे से है...मेरी भी समस्या यूनुस भाई की तरह है...वैसे मेरे पास भी फ़्री कॉर्डर है जो बहित आसान है...बहुत बहुत शुक्रिया

उन्मुक्त said...

ऑडेसिटी बेहतरीन प्रग्राम है। मैं इसका प्रयोग दो साल से कर रहा हूं और सारे पॉडकास्ट इसी पर रिकॉर्ड करता हूं। इसकी कई अच्छी बातें हैंः
१-यह मुक्त (ओपेन सोर्स) है।
२- यह सारे ऑपरेटिंग सिस्टम पर चलता है, लिनेक्स में भी।
३- आप इसमें ऑग (ogg) फॉरमैट में भी रिकॉर्ड कर सकते हैं। यह फॉरमैट मुक्त मानक (ओपेन फॉरमैट) है।

यूनस जी, विमल जी - लगता है कि आपके पास पुराना ऑडटसिटी है या फिर इसके सारे प्लग-इन नहीं डाले हैं। क्योंकि इसमें वेव फॉरमैट में रिकॉर्डिंग हो सकती है। ऐसे मेरे पास ऑडटसिटी Version 1.3.2 है।

अनूप शुक्ल said...

अच्छी जानकारी है।

Gyandutt Pandey said...

काम नहीं किया। न आप वाला, न यूनुस वाला। प्फ़िर दोनो ही अन-इन्स्टाल किये। विण्डो विस्टा में कुछ चक्कर होता है क्या?

Ghost Buster said...

@ ज्ञान जी: प्रोग्राम विस्टा पर लॉन्च ही नहीं हो पा रहा या फिर रिकार्डिंग में समस्या है? वैसे विस्टा में sound device drivers को लेकर कुछ दिक्कतें हैं. इसलिए ऑडेसिटी ने एक विकी विशेष रूप से विस्टा प्रयोग करने वालों के लिए बनाईं हुई है. आप इस URL पर देख सकते हैं: http://audacityteam.org/wiki/index.php?title=Windows_Vista_OS

. said...

अपन भी गीतों की महफिल के लिये कई गीतों का इन्तजाम इसी से करते हैं।
विस्तृत जानकारी कईयों के काम आयेगी। :)

vijay gaur/विजय गौड़ said...

बंधुवर साफ़्टवेयर पीसी में रन करने के बाद आपके बताये प्वाइंट न० ३ के हिसाब से ड्राप डाउन लिस्ट नहीं दिख रही है, बताइयेगा कि क्या करूं.

LinkWithin